E-Rupi क्या है, E-Rupi का इस्तेमाल कैसे करे | हिंदी में जानकारी 2021

E-Rupi क्या है, हेलो  दोस्तों आज हम इस पोस्ट में बात करने वाले है E-Rupi क्या है ? E-Rupi का इस्तेमाल कैसे करे ? हिंदी में जानकारी 2021 सरकारी योजनाओं से मिलने वाली मदद का सही जगह इस्तेमाल पक्का करने के लिए और डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने e-RUPI वाउचर से पेमेंट सिस्टम शुरू किया है।E-Rupi क्या है ?

-रुपी प्री-पेड रकम है, इससे पेमेंट में देरी संभव नहीं, बस ये वाउचर के रूप में है, जो वाउचर देने वाला लाभार्थी तक पहुंचाता है. -रुपी के जरिए बिना किसी मध्यस्थ के पेमेंट होना तय है, यानी सर्विस प्रोवाइडर के लिए भी इसमें फायदा है. … रूपी पेमेंट हो जाने की गारंटी है

2 अगस्त 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने इसे लांच किया। यह E-Rupi क्या है ? और कैसे काम करता है? इस लेख में हम बता रहे हैं। इससे लोगों को क्या फायदा होगा, इसकी भी जानकारी दे रहे है।

E-Rupi क्या है ? इसके फायदे 

ई-रुपी डिजिटल भुगतान (ऑनलाइन पेमेंट) के लिए एक कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस साधन है। पीएमओ के मुताबिक, ई-रुपी एक क्यूआर कोड या एसएमएस स्ट्रिंग-आधारित ई-वाउचर है,

जिसे लाभार्थियों के मोबाइल फोन तक पहुंचाया जाता है। इसे नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने अपने यूपीआई (UPI)प्लेटफॉर्म परवि त्तीय सेवाओं के विभाग, केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सहयोग से डेवलप किया है।

पीएमओ के मुताबिक, ई-रुपी को वन टाइम पेमेंट मैकेनिज्म के यूजर्स, सेवा प्रदाता पर कार्ड, डिजिटल भुगतान ऐप या इंटरनेट बैंकिंग एक्सेस किए बिना वाउचर को भुनाने में सक्षम होंगे।

e-Rupi से भुगतान करने के लिए भी, किसी तरह के Card या Payment App या Internet banking की जरूरत नहीं होती। इससे पूरी तरह cashless (नकदीरहित), contactless (संपर्करहित) और Safe (सुरक्षित)भुगतान होता है।

e-Rupi वाउचर के रूप में मिली पूरी रकम का एक ही बार में पूरा भुगतान हो जाएगा। क्योंकि इनमें किसी इनमें सिर्फ उतनी ही रकम होगी, जितनी कि उस काम के लिए तय की गई हो। फिलहाल अधिकतम 10 हजार रुपए कीमत तक के e-Rupi वाउचर ही जारी किए जा सकते हैं।

e-Rupi एक प्रकार के प्रीपेड डिजिटल वाउचर है। इसमें आपके मोबाइल पर, डिजिटल रूप में पैसा मिलता है, और सिर्फ मोबाइल नंबर की मदद से इन पैसों का भुगतान भी हो जाता है। SMS, QR code और OTP की मदद से पूरी प्रक्रिया हो जाती है। इसके लिए, आपके पास किसी बैंक अकाउंट की जरूरत नहीं होती।

e-RUPI कैसे करता है काम?

पीएमओ ने जानकारी दी है कि ई-रुपी, सर्विस के स्पॉन्सर्स को बिना किसी फिजिकल इंटरफेस के डिजिटली तरीके से लाभार्थियों और सेवा प्रदाताओं को लाइनअप करता है। इसके अलावा ये भी सुनिश्चित करता है कि लेने-देन का पूरा प्रोसेस होने तक सेवा प्रदाता को पेमेंट ना हो।

पीएमओ ने यह भी कहा है कि ई-रुपी की प्रकृति प्री-पेड है, इसलिए यह किसी भी इंटरमीडिटर (मध्यस्थ) की भागीदारी के बिना सेवा प्रदाता को समय पर पेमेंट का भी भरोसा दिलाता है।

e-Rupi Prepaid Voucher किसने विकसित किया

इसका पूरा सिस्टम, UPI प्लेटफॉर्म पर काम करता है। आगे इसे कंपनियों और संस्थाओं की ओर से भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। Reserve Bank of India से इसे मंजूरी मिल चुकी है।

e-Rupi वाउचर जारी करने का काम, तीन तरह के संस्थानों को मिलेगा- बैंक, पेमेंट सर्विस देने वाली कंपनियां और प्रीपेड वाउचर बनाने वाली कंपनियां। फिलहाल जिन्हें इस काम के लिए अधिकृत किया गया है, उनके नाम हैं-

  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • एचडीएफसी बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • केनरा बैंक
  • इंडसिंड बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक

E-Rupi क्या है ? हिंदी में  Video:

 

e-Rupi कहां हो सकता है वाउचर का इस्तेमाल

इस वाउचर का इस्तेमाल  मातृ और बाल कल्याण योजनाओं के तहत दवाएं और पोषण संबंधी सहायता, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना जैसी स्‍कीमों के तहत दवाएं और उपचार, उर्वरक सब्सिडी, इत्यादि देने की योजनाओं के तहत सेवाएं उपलब्ध कराने में किया जा सकता है।

यहां तक कि निजी क्षेत्र भी अपने कर्मचारी कल्याण और कॉरपोरेट सामाजिक दायित्‍व कार्यक्रमों के तहत इन डिजिटल वाउचर का उपयोग कर सकता है। खास बात है कि ई-रुपी भी यूपीआई प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है लेकिन इसे रिडीम करने के लिए मोबाइल ऐप की जरूरत नहीं होगी.।

E-Rupi क्या है,  क्या फायदे हैं?

E-Rupi का इस्तेमाल करने से सरकार को सब्सिडी का पैसा सही जगह पर खर्च करवाने में आसानी होगी ही। सामान्य लोगों, कंपनियों और अस्पतालों को भी इससे फायदा होगा।

इस प्लेटफॉर्म को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के साथ मिलकर तैयार किया है. कैसे होगा, आइए जानते हैं-

ई-रुपी सामान्य लोगों को फायदा | e-Rupi Benefits for people

  • सिर्फ मोबाइल नंबर की जरूरत: आपको सरकार से या कंपनी से पैसा पाने के लिए, सिर्फ मोबाइल नंबर देकर काम चल जाएगा। उसी पर डिजिटल रूप में, पैसा आ जाएगा और उसी से डिजिटल रूप में, पैसाें का भुगतान भी हो जाएगा।
  • पेमेंट माध्यमों पर निर्भरता नहीं: e-Rupi से ट्रांजेक्शन के लिए किसी तरह के डेबिट, क्रेडिट या प्रीपेड कार्ड रखने की जरूरत नहीं होगा। किसी तरह का पेमेंट एप या नेटबैंकिंग की भी जरूरत नहीं होगी। बैंक अकाउंट खुलवाने या अकाउंट नंबर देने की जरूरत नहीं होगी।
  • फ्रॉड की गुंजाइश नहीं: आपके वाउचर से भुगतान की प्रक्रिया तभी पूरी होगी, जबकि आप verification code बताएंगे। इससे किसी तरह की कमीशनबाजी या फ्रॉड की गुंजाइश नहीं रहेगी।
  • संक्रमण का खतरा नहीं: भुगतान लेने वाले और देने के बीच किसी तरह के सीधे संपर्क की जरूरत नहीं होगी। क्योंकि न तो नकद भुगतान करना होगा और न ही किसी तरह का दस्तावेज पेश करना होगा। इससे किसी बीमारी का संक्रमण फैलने की गुंजाइश नहीं होगी। कोरोना महामारी के माहौल में ऐसे किसी पेमेंट सिस्टम की सख्त जरूरत महसूस की जा रही थी।
  • डेटा की प्राइवेसी बनी रहेगी: आपको पेमेंट पाने या पेमेंट देने के लिए, आधार नंबर या बैंक अकाउंट नंबर या किसी अन्य तरह का अन्य डिटेल देने की भी जरूरत नहीं होगी। इससे आपकी प्राइवेसी बनी रहेगी और डेटा के दुरुपयोग की भी आशंका नहीं रहेगी।
  • सबूत रखने का झंझट नहीं: हर बार के लेन-देन का डिजिटल रिकॉर्ड आपके पास मौजूद रहेगा और उस कंपनी या संस्थान के पास भी इसकी जानकारी अपने आप पहुंच जाएगी। यानी कि आपको अपने खर्चे का सबूत नहीं जुटाना होगा।

Conclusion / निष्कर्ष:-

आशा करता हु दोस्तों आपको ये लेख जरूर पसंद आया होगा। और इस लेख मे मेने E-Rupi क्या है, E-Rupi का इस्तेमाल कैसे करे | हिंदी में जानकारी 2021 इसके बारे मे पूरी जानकारी दी हुई है। इसके लिए आप मेरे इस लेख को शेयर भी कर सकते हो |अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं |

इसी तरह के जानकारी के लिए आप हमारी Website पर Visit करे, और अगर यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने मित्रों को और अपने सोशल साइट शेयर जरूर करें, धन्यवाद |

Leave a Comment